गोपालक योजना 2021 | Uttar Pradesh Gopalak Yojana 2021 | बैंक ऋण और सब्सिडी राशि

0
2680
Uttar Pradesh Gopalak Yojana 2021
Uttar Pradesh Gopalak Yojana 2021

उत्तर प्रदेश गोपालक योजना 2021 (Uttar Pradesh Gopalak Yojana 2021)

गोपालक डेयरी योजना उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा बेरोजगारी को खत्म करने के लिए लायी गई योजना है। यह योजना बेरोजगारों को डेयरी फार्म खोलने के लिए ऋण एवं सब्सिडी की व्यवस्था करता है। पहले से जो डेयरी फार्म चला रहे हैं, उन्हें भी इस योजना का लाभ मिलेगा। 2018 में लाई गई यह योजना समाजवादी पार्टी के अखिलेश सरकार की कामधेनु योजना का ही विस्तारित योजना है, जो अपने विशाल बजट के कारण फ्लॉप हो गयी थी। गोपालक डेयरी योजना के तहत डेयरी फार्म निर्माण से लेकर 10 पशुओं (गाय या भैंस) की खरीद तक पूरे डेयरी फार्म का बजट 9 लाख ₹ है। जिसमे 1.80 लाख ₹ आवेदक को अपना लगाना होगा तथा 7.20 लाख ₹ बैंक से ऋण 5 वर्षो के लिए दिया जायेगा। इसमें 40 हजार ₹ सालाना के हिसाब से उत्तर प्रदेश सरकार कुल 2 लाख ₹ की सब्सिडी प्रदान करेगी। इसके अलावा अगर आप नियमित क़िस्त का भुगतान करते हैं, तो सरकार 10 हजार ₹ सालाना यानि 50 हजार ₹ अतिरिक्त सब्सिडी प्रदान करती है। यानि कुल सब्सिडी 2.50 लाख ₹ प्रदान किया जाता है।

योजना का नामगोपालक योजना
सम्बंधित राज्यउत्तर प्रदेश
मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ
योजना वर्ष2018
उद्देश्यबेरोजगारी हटाना तथा पशुधन की देखभाल के साथ शुद्ध दुग्ध उपलब्ध करवाना
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के गरीब बेरोजगार एवं पहले से पशुपालन में लगे गरीब लोग
योजना बजट (प्रति गोशाला)9.0 लाख ₹
बैंक द्वारा लोन7.20 लाख ₹
सब्सिडी2.0 लाख ₹ (2.50 लाख ₹ अधिकतम)
आवेदक का अपना राशि1.80 लाख ₹

 

उत्तर प्रदेश गोपालक योजना 2021 के लिये योग्यता तथा मानदंड (Uttar Pradesh Gopalak Yojana 2021: Eligibility)

  • यह योजना उत्तर प्रदेश के मूल निवासियों के लिए है। आवेदक बेरोजगार होना चाहिए या डेयरी प्रबन्धन में उसको अच्छा अनुभव होनी चाहिए। पहले से जो गोशाला चला रहे हैं, वे भी इस योजना के माध्यम से अपना गोशाला का विस्तार कर सकते हैं।
  • आवेदक को कम से कम 10 गायों या भैंसों के साथ डेयरी फार्म खोलना होगा। 5 पशुओं के साथ भी सम्बंधित अधिकारी से परामर्श के बाद खोल सकते हैं। लेकिन उन्हें 3.60 लाख ₹ ही ऋण मिलेगा और सब्सिडी भी आधी यानि 20 हजार ₹ सालाना के दर से 1 लाख ₹ मिलेगा।
  • आवेदकों के पास अपनी जमीन होनी चाहिए। इसके साथ ही लोन लेने वाले व्यक्ति के पास पशुपालन के लिए मजबूत इच्छा शक्ति होना चाहिए।
  • आवेदकों की वार्षिक आय 1 लाख ₹ से कम होनी चाहिए। अतः उसे आय प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा।

उत्तर प्रदेश गोपालक योजना 2021 के तहत बैंक ऋण (Uttar Pradesh Gopalak Yojana 2021: Bank Loan)

  • इस योजना के तहत 10 पशुओं के साथ डेयरी फार्म खोलने के लिए 1.80 लाख ₹ आपको अपना लगाना होगा।
  • प्रत्येक पशु के लिए 20 हजार ₹ का अनुदान यानि 10 पशुओं के लिए 2 लाख ₹ तथा 5 पशुओं के लिए 1 लाख ₹ का सब्सिडी दी जायेगी।
  • आवेदक को 5 पशु (गाय या भैंस) के लिये बैंक से 3.60 लाख ₹ और 10 पशुओं के लिए 7.20 लाख ₹ मिलेगा।

उत्तर प्रदेश गोपालक डेयरी योजना 2021 के लिये आवश्यक दस्तावेज (Uttar Pradesh Gopalak Dairy Yojana 2021: Required Documents)

  • इस योजना के तहत ऋण लेनेवाला व्यक्ति किसी भी बैंक से डिफॉल्टर नहीं होना चाहिए। साथ ही उसके पास किसी भी व्यवसाय से सम्बंधित किसी भी बैंक में ऋण नहीं चल रहा हो।
  • यदि आप आरक्षित वर्ग से हैं, तो आपके पास जाति प्रमाणपत्र होना चाहिए।
  • आवेदक के पास अपना तथा पारिवारिक आय प्रमाणपत्र होना चाहिए।
  • आवेदक के पास आधार कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदक को आवेदनपत्र के साथ आधार कार्ड और बैंक पासबुक की एक प्रति लगानी होगी। साथ ही जमीन की खाता खतौनी का कागज भी जमा करना होगा।

उत्तर प्रदेश गोपालक डेयरी योजना 2021 के लिये आवेदन प्रक्रिया (Uttar Pradesh Gopalak Dairy Yojana 2021: Registration Process)

  • आवेदक को सबसे पहले अपने क्षेत्र के चिकित्सा अधिकारी से सम्पर्क करना चाहिए, जो आपकी तरफ से आवेदन करेगा।
  • चिकित्सा अधिकारी फिर पशु चिकित्सा अधिकारी को रिपोर्ट भेजी देगा और सूचि मुख्यालय को भेजी जाएगी।
  • आवेदन का अनुमोदन मुख्यालय में एक टीम द्वारा किया जायेगा और ऋण का वितरण अनुमोदन के अधीन होगा।
  • लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होने पर गठित टीम द्वारा लॉटरी प्रक्रिया अपनाकर उम्मीदवारों का चयन किया जायेगा।
  • जो लोग पहले से गाय या भैंस के दूध के कारोबार में लगे हैं, उन्हें वरीयता प्रदान की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here