उत्तर प्रदेश किसान ऋण मोचन योजना 2021 | UP Kisan Rin Mochan Yojana 2021 | UP Kisan Karj Mafi Yojana in hindi|पंजीकरण प्रक्रिया

0
1963
UP Kisan Rin Mochan Yojana 2021
UP Kisan Rin Mochan Yojana 2021

उत्तर प्रदेश किसान ऋण मोचन योजना 2021 (UP Kisan Rin Mochan Yojana 2021)

उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने राज्य के किसानों के लिए कई योजनाएं तैयार की हैं। इन्हीं योजनाओं में से एक है उत्तर प्रदेश किसान कर्ज माफी-राहत योजना। इस योजना की घोषणा 9 जुलाई, 2017 को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा की गई थी। इस योजना के अंतर्गत राज्य के किसान; जिन पर ऋण है, उन किसानों का ऋण माफ किया जाएगा और उनको कर्ज रहित किया जाएगा।

इस योजना के अनुसार छोटे अथवा सीमांत किसान, जिन पर फसली ऋण हैउ उन कृषकों के कर्ज सरकार द्वारा माफ किए जाएंगेउ इस योजना से उन किसानों की मदद हो जाएगी, जिनकी आमदनी कम है; पर उन पर ऋण ज्यादा होने की वजह से बहुत मुश्किल में है। जो ऋण की वजह से परेशान हैं, उनकी मदद की जाएगी।

उत्तर प्रदेश किसान ऋण मोचन योजना 2021 का उद्देश्य (UP Kisan Rin Mochan Yojana 2021: Objectives)

इस योजना का उद्देश्य है कि राज्य के छोटे किसान जिन पर सरकारी अथवा गैर सरकारी बैंकों का कर्ज है, जो कि उन्होंने अपनी फसल के लिए लिया था। उस कर्ज को माफ करके किसानों को राहत पहुंचाना है। इस योजना के तहत 2.63 लाख छोटे तथा लघु किसानों को लाभ पहुंचाया जाएगा। ऋण माफी के अलावा ऋण पर ब्याज की छूट जैसी सुविधा भी कई किसानों को उपलब्ध करवाई जाएगी।

उत्तर प्रदेश किसान ऋण मोचन योजना 2021 के लाभ  (UP Kisan Karj Mafi Yojana 2021: Benefits)

  • कम जमीन वाले छोटे किसानों का कर्जा माफ किया जाएगा।
  • छोटे किसानों का 1 लाख रुपए तक का कर्ज माफ किया जाएगा।
  • जिन किसानों ने 25 मार्च, 2016 से पहले कृषि ऋण लिया था, उन किसानों को राहत प्रदान की जाएगी।
  • ऋण मुक्ति के अलावाकई किसानों के ब्याज पर छूट प्रदान की जाएगी।
  • सभी वर्गों के किसान इस योजना के अंतर्गत लाभ उठा सकते हैं।
  • इस योजना सेकिसानों की परेशानियां दूर होंगी।
  • किसानों की आमदनी में भी वृद्धि होगी।
  • फसली उत्पादन को बढ़ाने हेतु किसानों को लाभ प्रदान किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश किसान ऋण मोचन योजना 2021 के तहत जारी किए गए दिशा निर्देश (UP Kisan Karj Mafi Yojana 2021: Guidelines)

  • इस योजना का लाभ केवल यूपी निवासी ही ले सकते हैं।
  • किसान ही इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं, अन्य व्यवसाय वाले नागरिक आवेदन नहीं कर सकते।
  • जिन किसानों की जमीन 2 हेक्टेयर तक है, वही किसान लाभ के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • आवेदक के पास बैंक अकाउंट पासबुक होना भी अनिवार्य है।
  • बैंक अकाउंट आधार से लिंक होना अनिवार्य है।
  • जमीन की डिटेल देनी अति आवश्यक है, तभी किसान आवेदन कर पाएगा।

उत्तर प्रदेश किसान ऋण मोचन योजना 2021 आवश्यक दस्तावेज (UP Kisan Karj Mafi Yojana 2021: Required Documents)

  • आधार कार्ड
  • भूमि से जुड़े हुए दस्तावेज एवं भूमि की डिटेल
  • मूलनिवासी पहचान पत्र
  • बैंक अकाउंट एवं बैंक की पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

उत्तर प्रदेश किसान ऋण मोचन योजना 2021 पंजीकरण प्रक्रिया (UP Kisan Karj Mafi Yojana 2021: Registration Process)

  • आवेदक को ऑफिशियल वेबसाइट https://www.upkisankarjrahat.upsdc.gov.in/पर जाना होगा।
  • इसके बादउत्तर प्रदेश कर्ज माफीराहत योजना के अंतर्गत आवेदन फॉर्म दिखाई देगा।
  • इस फॉर्म में मांगी गई सारी जानकारी भरने के उपरांत Submit बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आवेदन फॉर्म जमा हो जाएगा।
  • इस प्रकार आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • जितने भी उम्मीदवार आवेदन करेंगे, उन सभी का डाटा चेक करने के पश्चात विभागीय अधिकारी एक सूची तैयार करेंगे। इस सूची के अनुसार ही किसानों को कर्ज माफी का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इनकी भी किसानों का नाम इस सूची में दर्ज होगा, उन सब किसानों को फायदा पहुंचेगा अथवा कर्ज माफ किया जाएगा।

इस सूची को चेक करने के लिए निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करने होंगे

  • आवेदक को ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके पश्चातऋण मोचन की स्थिति देखें का विकल्प दिखाई देगा।
  • इस विकल्प को क्लिक करने के पश्चात एक नया पेज खुल जाएगा।
  • इस नए पेज पर मांगी गई जानकारी जैसे कि बैंक, जिला, शाखा, क्रेडिट कार्ड विवरण आदिभरना होगा।
  • सभी कुछ भरने के पश्चात सबमिटके बटन को क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद ऋण मोचन स्थिति स्क्रीन पर दिखाई देगी।
  • स्थिति से स्पष्ट हो जाएगा कि किसान का आवेदन स्वीकार कर लिया गया है या नहीं अर्थात आवेदक को लाभ प्राप्त होगा या नहीं।

इस योजना का लाभ उठाकर किसान ऋण मुक्त हो जाएंगे और बिना किसी मानसिक परेशानी के खेती कर पाएंगे। किसानों का मनोबल ऊंचा होगा तथा वह अपने आप को असहाय महसूस नहीं करेंगे। उनकी खेती आधारित समस्याएं भी खत्म हो जाएंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here