योगी मुफ्त लैपटॉप योजना 2021 (UP Free Laptop Yojana 2021) उत्तर प्रदेश निशुल्क लैपटॉप स्कीम

0
1787
UP Free Laptop Yojana 2021
UP Free Laptop Yojana 2021

योगी मुफ्त लैपटॉप योजना 2021 (UP Free Laptop Yojana 2021) उत्तर प्रदेश निशुल्क लैपटॉप स्कीम

आज के समय में शिक्षा का महत्व बहुत ज्यादा बढ़ गया है और यह आज के समय में हर व्यक्ति को समझना बहुत ज्यादा जरूरी है। जो लोग शिक्षा के महत्व को सबसे ज्यादा समझते हैं वह सबसे ज्यादा निवेश अपनी शिक्षा पर ही करते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार शिक्षा के महत्व को समझते हैं और शिक्षा को प्राथमिक अभी देते हैं इसीलिए उन्होंने दसवी और बारहवीं के टॉपर्स को प्रोत्साहन मेरे के लिए एक एक लाख अबे की राशि के साथ-साथ एक लैपटॉप देने का भी एलान किया है। यूपी सरकार द्वारा जारी की गई इस योजना के तहत राज्य के 10 टॉपर्स को जो सबसे अधिक नंबर लाए हैं उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

योगी मुफ्त लैपटॉप योजना 2021 (Uttar Pradesh Free Laptop Yojana 2021)

आपको तो पता ही है कि कोरोना की वजह से देश भर में लॉकडाउन की स्थिति लागू कर दी गई थी जिसके बाद बहुत से राज्य में सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई। परंतु उत्तर प्रदेश में परीक्षाएं तो पूरी हो गई थी परंतु उनके मूल्यांकन में लॉकडाउन की वजह से थोड़ी देर हो गई। मूल्यांकन के बाद 27 जून 2020 को कक्षा 10वीं और 12वीं के परिणाम घोषित किए गए। जिसके बाद योगी आदित्यनाथ ने सभी छात्रों को बधाई देते हुए इस मुख्य योजना की घोषणा भी की। साथ ही लैपटॉप और प्रोत्साहन राशि के साथ-साथ उन्होंने यह भी बात कही कि वह टॉपर्स से घर तक सड़क का निर्माण भी करेंगे।

आंकड़ों के अनुसार यूपी में दसवीं कक्षा के 27,44,976 छात्रों ने परीक्षा दी जिसमें से 23,00,982 छात्र पास हो गए। 32 लोग इस लिस्ट में टॉपर आए हैं जिन्हें ₹100000 की नगद राशि और लैपटॉप भी दिया जायेगा साथ ही उनके घर के आसपास की सड़क का निर्माण भी किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के आंकड़ों के अनुसार 12वीं कक्षा के 5130481 छात्रों ने परीक्षा दी जिसमें से 76% से ज्यादा बच्चे पास हो गए। आंकड़े के अनुसार यह सामने आया है कि इस बार का रिजल्ट पहले से ज्यादा बेहतर रहा है। उन सभी छात्रों में से मात्र 10 छात्र ऐसे सामने आए हैं जिन्हें मुफ्त लैपटॉप और एक ₹100000 का नगद इनाम प्राप्त हुआ है।

योगी सरकार की इस योजना के जरिए उन बच्चों के घर के आसपास की सड़क पक्की की जाएगी साथ ही पढ़ने वाले बच्चे इस योजना से प्रोत्साहित होंगे और अपनी कक्षाओं में अच्छे से अच्छे अंक लाने की कोशिश करेंगे ताकि वह भी इस योजना का हिस्सा बन सकें। साथ ही गरीब परिवार के बच्चे भी इस योजना से बहुत ज्यादा प्रभावित हो सकेंगे ताकि वह भी इस योजना का सही लाभ प्राप्त कर सकें।

बच्चों की शिक्षा को नया आयाम देने के लिए उन्हें हमेशा ही प्रोत्साहन देते रहना चाहिए ताकि वे आगे बढ़ने की लगन को ना छोड़े। आप तो जानते ही हैं कि बिना शिक्षा के वह अपना भविष्य नहीं बना पाएंगे इसलिए भविष्य के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए उनकी आज की शिक्षा को सही करना और उनके अंको पर ध्यान देना बेहद जरूरी है। कड़ी मेहनत और लगन के साथ यदि बच्चे पढ़ाई पर ध्यान दें तो वह कड़ी से कड़ी परीक्षा को भी पास कर सकते हैं।

एक बात तो है जो आज की पीढ़ी में देखने को मिल जाती है वह यह कि वह हर मुमकिन कोशिश को करने का प्रयास करते हैं ताकि वे अपने माता-पिता के साथ साथ अपने राज्य और अपने देश का नाम भी रोशन कर सकें

लॉकडाउन के दौरान ऐसे बहुत सारे बच्चे सामने आए हैं जिन्होंने घर में रहकर बड़े-बड़े और अचंभित कर देने वाले खोज किए हैं जिनसे उन्होंने अपने राज्य का नाम रोशन कर दिखाया है। यदि प्रत्येक राज्य में यह स्कीम चलाई जाए तो शायद अच्छे अंक लाने वाले बच्चों की संख्या में बहुत ज्यादा बढ़ोतरी हो सकती है।

फिलहाल यह योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ही लागू की है जो सिर्फ उत्तर प्रदेश के छात्र छात्राओं के लिए ही लागू है। इसका फायदा केवल उत्तर प्रदेश में परीक्षा देने वाले छात्र-छात्राओं को ही प्राप्त हो सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here