देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना उत्तर प्रदेश 2021 | UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021

0
1901
UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021
UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021

देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना उत्तर प्रदेश 2021 (UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021)

एक राष्ट्र के विकास के लिए लड़कियों की शिक्षा बेहद महत्वपूर्ण है। अफ्रीका में एक बहुत प्रसिद्ध कहावत है जो कहती है, ‘यदि आप एक पुरुष को शिक्षित करते हैं, तो आप एक व्यक्ति को शिक्षित करते हैं, लेकिन यदि आप एक महिला को शिक्षित करते हैं, तो आप एक राष्ट्र को शिक्षित करते हैं।’ शिक्षा के साथ बालिकाओं को सशक्त बनाना सबसे अच्छा विकल्प है जो एक राष्ट्र स्वयं को सशक्त बना सकता है।

भारत एक तेजी से विकसित होता हुआ विकासशील देश है। पूर्ण उन्नति का लक्ष्य तब तक संभव नहीं है जब तक कि प्रत्येक भारतीय न केवल उच्च शिक्षित न हो जाए बल्कि अत्यधिक कुशल भी हो जाए। यह कार्य केवल लड़कियों की शिक्षा और योगदान के साथ पूरा किया जा सकता है। इसलिए, शिक्षा के साथ बालिका को सशक्त बनाना सबसे अच्छा निवेश है, जिसे एक राष्ट्र बना सकता है।

भारत के सभी राज्यों ने लड़कियों की शिक्षा की तरफ ध्यान देते हुए कई प्रकार की योजनाएं बनाई हैं। इसी प्रकार उत्तर प्रदेश सरकार ने भी लड़कियों की शिक्षा को सुधारने तथा उन्हें सशक्त बनाने के लिए देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना उत्तर प्रदेश की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत लड़कियों को स्नातक शिक्षा मुफ्त में उपलब्ध करवाई जाएगी।

उत्तर प्रदेश देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना 2021 की घोषणा (UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021: Declaration)

इस योजना की घोषणा राज्य के मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी जी द्वारा की गई। इस योजना के तहत मुफ्त में लड़कियों को शिक्षा प्रदान करने की हर संभव कोशिश राज्य सरकार करेगी। यही कहते हुए मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी जी ने योजना का उद्घाटन किया।

उत्तर प्रदेश देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना 2021 का उद्देश्य (UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021: Objectives)

लड़कियों को सशक्त बनाने और उनकी शिक्षा में वृद्धि हेतु इस योजना को शुरू करने का एकमात्र उद्देश्य यही है कि सभी कन्याएं पढ़ लिख जाएं और अपने पैरों पर खड़ी हो जाएं। लड़कियां आत्मनिर्भर बन जाएं और उन्हें किसी पर भी निर्भर होने की आवश्यकता ना पड़े। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मिशन को ध्यान में रखते हुए की निशुल्क शिक्षा प्रदान करने की के प्रयास किए जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना 2021 के लिए जारी किया गया बजट (UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021: Budget)

यह योजना राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई है, इसलिए इसका बजट भी राज्य सरकार द्वारा ही जारी किया गया है। योजना का कुल बजट 21 करोड़ रुपए रखा गया है।

विभाग

उत्तर प्रदेश में यह योजना यूपी उच्च शिक्षा विभाग द्वारा नियंत्रित की जा रही है। योजना का सारा संचालन अथवा देखरेख का ज़िम्मा इसी विभाग के पास है। कौन से स्कूल तथा कॉलेज इस योजना के अंतर्गत लड़कियों के नाम रजिस्टर कर रहे हैं, इसकी सारा प्रबंधन यूपी उच्च शिक्षा विभाग ही नियंत्रित करता है।

उत्तर प्रदेश देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना 2021 के लाभ (UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021: Benefits)

मुफ्त शिक्षा प्रबंध

इस योजना के तहत लड़कियों को मुफ्त शिक्षा उपलब्ध करवाई जाएगी। लड़कियों को स्नातक तक बिल्कुल फ्री में शिक्षा उपलब्ध करवाई जाएगी। मुफ्त शिक्षा प्राप्त होने से गरीब परिवार जो लड़कियों को पढ़ा नहीं पाते, उनको काफी हद तक फायदा पहुंचेगा।

स्नातक या उच्च शिक्षा प्राप्ति

लड़कियों को इस योजना का लाभ स्नातक शिक्षा प्राप्त करने तक मिलता रहेगा। जब तक लड़कियां स्नातक शिक्षा प्राप्त नहीं कर लेती, तब तक उन्हें योजना का लाभ निरंतर प्राप्त होता रहेगा। उच्च शिक्षा प्राप्त करने के सारे साधन उन तक पहुंचाए जाएंगे।

आत्मनिर्भरता

मुफ्त शिक्षा प्राप्त होने से लड़कियों में शिक्षा प्राप्त करने की उत्सुकता बढ़ जाएगी। उन्हें अधिक से अधिक पढ़ने की प्रेरणा मिलेगी और वह आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ जाएंगी। लड़कियां पढ़ लिख कर अपने पैरों पर खड़े होने योग्य बन जाएंगी। लड़कियां पड़ेगी तो इससे राष्ट्र को भी लाभ पहुंचेगा।

साक्षरता दर

राज्य में लड़कों के मुकाबले लड़कियों की साक्षरता दर बहुत कम है। इसका एक बहुत बड़ा कारण यह है कि गरीब परिवार लड़कियों को पढ़ाने की तरफ ज्यादा ध्यान नहीं देते क्योंकि उन लोगों को यही लगता है कि लड़कियों को पढ़ाने का कोई फायदा नहीं है। परंतु सरकार ने इस योजना को लागू करके लड़कियों के लिए पढ़ने का रास्ता खोल दिया है। राज्य की साक्षरता दर में अवश्य वृद्धि होगी।

लोगों की मानसिकता में बदलाव

इस योजना के लागू होने से लोगों की मानसिकता में बहुत बदलाव आया है। जो लोग पहले लड़कियों को पढ़ाने के लिए ज़्यादा कोशिश नहीं करते थे और ना ही लड़कियों को स्कूल भेजने की कोई आवश्यकता समझते थे। अब वह लोग जागरूक हो गए हैं और लड़कियों को पढ़ने के लिए स्कूल भेजने लग गए हैं। इसमें कहीं ना कहीं मुफ्त शिक्षा प्राप्त होने की वजह से भी लड़कियों को लाभ पहुंचा है।

उत्तर प्रदेश देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना 2021 के आवेदन के लिए पात्रता (UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021: Eligibility)

केवल यूपी निवासी

इस योजना के तहत केवल यूपी में रहने वाली कन्याएं ही आवेदन कर सकती हैं। अन्य राज्यों में रहने वाली लड़कियां इस योजना के तहत कोई रजिस्ट्रेशन नहीं करवा सकती और न ही कोई लाभ प्राप्त कर सकती हैं।

बैंक खाता

योजना के तहत आवेदन करने वाली लड़की के का अपना बैंक खाता होना अति आवश्यक है, तभी वह इस योजना के तहत आवेदन कर सकती हैं। यदि लड़की का अपना बैंक खाता नहीं है, तो उसे सबसे पहले बैंक में अपना खाता खुलवाना होगा, इसके बाद ही वह इस योजना के तहत आवेदन कर पाएंगी।

बीच में शिक्षा छोड़ने वाली लड़कियां

जो लड़कियां बीच में ही शिक्षा छोड़ देती हैं, उन लड़कियों को इस योजना के तहत फायदा नहीं पहुंचाया जाएगा।

पंजीकृत लड़कियों द्वारा स्कूल या कॉलेज छोड़ने के बाद योजना उनके लिए तभी बंद हो जाएगी।

स्कूल या कॉलेज से संबंधित सर्टिफिकेट

इस योजना के तहत आवेदन करने वाली लड़कियों को स्कूल या कॉलेज से संबंधित प्रमाण पत्र जमा करवाने आवश्यक होते हैं। तभी वह इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकती हैं। जो लड़कियां प्रमाण पत्र जमा नहीं करवा पाती, उन लड़कियों को आवेदन करने की अनुमति नहीं है।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • मूलनिवासी पहचान पत्र
  • स्कूल या कॉलेज के प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक पासबुक की फोटो कॉपी
  • हस्ताक्षर

उत्तर प्रदेश देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना 2021 आवेदन प्रक्रिया (UP Ahilyabai Nishulk Shiksha Yojana 2021: Registration Process)

  • इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए अभी तक कोई भी आधिकारिक वेबसाइट शुरू नहीं की गई है। अभी इस योजना का लाभ लेने के लिए कन्याओं को स्कूल या कॉलेज के प्रबंधकों से संपर्क करना होगा।
  • स्कूल या कॉलेज के प्रबंधक ही लड़कियों को इस योजना के तहत रजिस्टर करते हैं। रजिस्ट्रेशन का सारा प्रोसेस स्कूल या कॉलेज के प्रबंधकों द्वारा ही संभाला जाता है।
  • लड़कियों का नाम रजिस्टर करके सारी डिटेल उच्च शिक्षा विभाग तक पहुंचाई जाती है। फिर विभाग सारी वेरिफिकेशन करने के पश्चात लड़कियों के नाम की एक सूची तैयार करते हैं।
  • उस सूची को स्कूल प्रबंधकों या कॉलेज प्रबंधकों तक पहुंचाया जाता है।
  • जिन लड़कियों का नाम उस सूची में दर्ज होता है, उन लड़कियों को निशुल्क शिक्षा प्रदान की जाती है।

बाल विवाह से बचने और अपनी क्षमता को पूरा करने के लिए लड़कियों को सक्षम बनाने के लिए शिक्षा सबसे शक्तिशाली उपकरणों में से एक है। शिक्षा लड़कियों को कौशल, ज्ञान और आत्मविश्वास विकसित करने का मौका भी देती है उसके सहित कई निर्णय लेने योग्य भी बनाती है।

राज्य सरकार ने इस योजना से लड़कियों में यही सारे गुण पैदा करने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की भरपूर कोशिश की है। राज्य के सारे स्कूल तथा कॉलेज जो इस योजना से जुड़े हुए हैं, योजना के तहत उन स्कूलों तथा कॉलेजों द्वारा कई लड़कियों को लाभ पहुंचा जा चुका है और आगे भी लाभ पहुंचाने की निरंतरता जारी है।

उत्तर प्रदेश सरकारी योजना 2021सरकारी योजना List 2021प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2021

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here