ओडिशा कन्या उत्थान योजना योजना 2021 | Odisha Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana 2021 | आवेदन प्रक्रिया

0
477
Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana 2021
Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana 2021

ओडिशा मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना 2021 (Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana 2021)

ओडिशा सरकार ने छात्राओं को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के लिए बहुत सारी योजनाएं बनाई हैं। इन्हीं में से एक योजना है “मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना”। इस योजना के अंतर्गत राज्य के स्कूलों में पढ़ाई की दशा को सुधारना और नई नीतियां अपनाकर छात्राओं को पढ़ाई के लिए प्रेरित करना है। यह स्कीम दो भागों में विभाजित किया गया है।

  • उज्जवल (Phase 1)
  • उत्थान (phase 2)

“उज्जवल”और “उत्थान” यह दोनों भाग स्कूलों में पढ़ाई के स्तर को बढ़ाने के लिए आयोजित किए गए हैं। “उज्जवल” के तहत कक्षा पहली (1st) से पांचवी (5th) और “उत्थान” 6 वीं कक्षा से 8 वीं के लिए शुरू की गई है।

ओडिशा कन्या उत्थान योजना 2021 का उद्देश्य (Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana 2021: Objectives)

राज्य में स्कूलों के अंदर जो पढ़ाई करवाई जा रही है, उसके स्तर में बढ़ोतरी करना ही इस योजना का मुख्य उद्देश्य है ताकि विद्यार्थी पढ़ाई के लिए प्रेरित हो सके और उनमें अधिक पढ़ाई करने की ललक उठ सके। इस योजना में अग्रिम विषयों की पढ़ाई करवाई जाएगी।

ओडिशा कन्या उत्थान योजना 2021 के फायदे (Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana 2021: Benifits)

  • इस योजना के अंतर्गत 4 लाख विद्यार्थियों को लाभ पहुंचाया जाएगा।
  • स्कूलों में अग्रिम विषयों पर पढ़ाई करवाई जाएगी और यह 40 दिनों के अंदर करवाया जाएगा।
  • बच्चों को एक अच्छा वातावरण देते हुए उनकी दिलचस्पी के अनुसार विषयों पर पढ़ाई करवाई जाएगी।
  • विद्यार्थियों को इस तरीके से तैयार किया जाएगाकि वह राष्ट्रीय / अंतरराष्ट्रीय स्तर तक भी मुकाबला करने के लायक बन सके।
  • “उज्जवल” और “उत्थान” प्रोग्राम के तहत विद्यार्थियों को नए-नए विषय और उन पर रिसर्च जैसा काम दिया जाएगा।
  • यह सब करने के लिए योग्य व तजुर्बेकार अध्यापकों का चयन किया गया है। सभी अध्यापकों को उचित प्रशिक्षण दिया गया है ताकि वह विद्यार्थियों को भविष्य के लिए तैयार कर पाए।

ओडिशा कन्या उत्थान योजना 2021 के लिए आवेदन (Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana 2021 : Registration Process)

  • इस योजना के लिए कोई भी आवेदन नहीं है। इसमें हर स्कूल को भाग लेना होगा और सभी स्कूलों में इस योजना की शुरुआत की गई है।
  •  जिला शिक्षा अधिकारियों एवं ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों को सीधे तौर पर विद्यार्थियों के माता-पिता व अध्यापकों की मीटिंग करवाने का जिम्मा दिया गया है। स्टेट गवर्नमेंट इस योजना के तहत प्रमाण पत्र देने का आयोजन भी करेगी।
  • स्कूलों में शिक्षा का सुधार भी होगा और विद्यार्थियों में शिक्षा प्राप्त करने की और कुछ नया सीखने की दिलचस्पी भी बढ़ेगी।
  •  कुल मिलाकर इस योजना सेशिक्षा केंद्रों में पढ़ाई का नवीनीकरण होगा और विद्यार्थियों में नए तरीके से पढ़ाई करने की दिलचस्पी भी पैदा होगी। राज्य में साक्षरता दर बढ़ेगी, एक अच्छे पढ़े-लिखे भविष्य का निर्माण होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here