Mukhyamantri Mahalaxmi Yojana Uttarakhand 2022

0
2464
Mukhyamantri Mahalaxmi Yojana Uttarakhand
Mukhyamantri Mahalaxmi Yojana Uttarakhand

क्या आपको पता है मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना 2022 क्या है और इससे किसे और क्या लाभ मिलेगा। आपको बता दे कि उत्तराखंड सरकार उत्तराखंड में जन्म लेने वाली बेटियों को मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना के अंतर्गत सुरक्षा कवच प्रदान करने जा रही है। हाल ही में 9 अप्रैल को हुई कैबिनेट की एक बैठक में ‘मुख्यमंत्री सौभाग्यवती किट’ योजना को मंजूरी दी गई। आपको बता दें कि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के कार्यकाल में ही महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य की पहल पर मुख्यमंत्री सौभाग्यवती किट योजना का खाका खींचा गया था, लेकिन अब वर्तमान की तीरथ सरकार ने इसका नाम बदलकर मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट कर दिया है। आपको बता दें कि इस योजना के अंतर्गत बेटी होने पर प्रत्येक परिवार को रोजाना काम आने वाले जरूरी सामानों की एक किट सौंपी जाएगी। उत्तराखंड में महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य के अनुसार किसी भी परिवार में अगर बेटी के जन्म होता है तो बेटी और मां को यह मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना प्रदान की जाएगी। उत्तराखंड सरकार द्वारा दी जाने वाली इस किट में करीब साढ़े तीन हजार रुपये का सामान होगा। मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट में माता के लिए बादाम, छुआरा, साड़ी, सूट, स्कार्फ, बेडशीट, हैंडवाश, साबुन, मौजे, नेलकटर आदि सामग्री दी जाएगी। बेटी के लिए सूती कपड़े, तौलिया, कंबल, रबरशीट, तेल, साबुन आदि सामग्री दी जाएगी। परिवार में दो बेटियां को यह मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट दी जाएंगी। मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट के साथ टीकाकरण से संबंधित संदेश भी मिलेगा। तो चलिए आज हम आपको मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट के बारे में और ज्यादा विस्तार से बताएंगे।

जानिए मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट योजना 2022 के मुख्य उद्देश्य | Mukhyamantri Mahalaxmi Yojana Uttarakhand : Objectives

आपको बता दे कि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के कार्यकाल में ही महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य की पहल पर मुख्यमंत्री सौभाग्यवती किट योजना का खाका खींचा गया था लेकिन अब वर्तमान की तीरथ सरकार ने इसका नाम बदलकर मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट कर दिया है। अगर हम रेखा आर्य के की बात करें तो रेखा आर्य के अनुसार जब भी किसी के घर मे पुत्री आती है तो लोग कहते हैं लक्ष्मी आई है। इसलिए इस योजना का नाम मुख्यमंत्री सौभाग्यवती किट योजना से बदल कर मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट योजना रख दिया गया है। आपको बता दे कि इस मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट योजना का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड में लैंगिक अनुपात में सुधार लाना और मातृ शिशु मृत्यु दर में कमी लाना ,एवं संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देना है। इतना ही नहीं इस योजना का उद्देश्य बेटी बचाओ , बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम को आगे बढ़ाना भी है। तभा विभागीय मंत्री रेखा आर्य जी ने बताया कि,आर्थिक संसाधनों के आभाव में उत्तराखंड की महिलाएँ स्वयं का और अपने बच्चे की देखभाल अच्छे से नही करती इसलिये उत्तराखंड की महिलाओं को इस कार्य हेतु आर्थिक मदद देने के लिए मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट योजना की शुरुआत की जा रही है।

जानिए मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट योजना लाभ

अगर आप इस उत्तराखंड की मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना का लाभ उठाना चाहते है तो इसके लिए आपको आंगनबाड़ी केंद्र में जा कर पंजीकरण करना होगा। इतना ही नहीं इस मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट योजना का लाभ लेने के लिए आपको उत्तराखंड का स्थायी निवासी होना जरूरी है। पंजीकरण आंगनबाड़ी कार्यकर्ती द्वारा खुद किया जाएगा। लाभार्थी भी अपना पंजीकरण करा सकते हैं। इस मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट योजना की और अधिक जानकारी के लिए अपने निकट आंगनबाड़ी केंद्र में जाकर संपर्क कर सकते हैं।

Mukhyamantri Mahalaxmi Yojana Uttarakhand : Beneficiary

उत्तराखंड सरकार द्वारा दी जाने वाली इस मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट में आपको करीब साढ़े तीन हजार रुपये का सामान मिलेगा। मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट में माता के लिए बादाम, छुआरा, साड़ी, सूट, स्कार्फ, बेडशीट, हैंडवाश, साबुन, मौजे, नेलकटर आदि सामग्री दी जाएगी। बेटी के लिए सूती कपड़े, तौलिया, कंबल, रबरशीट, तेल, साबुन आदि सामग्री दी जाएगी। आपको बता दे कि उत्तराखंड के किसी भी परिवार की दो बेटियां को यह मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट दी जाएंगी। मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट के साथ टीकाकरण से संबंधित संदेश भी दिए जायेगे।

जानिए मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट योजना में कैसे आवेदन करें | Mukhyamantri Mahalaxmi Yojana Uttarakhand : Registration

आपको बता दे कि अभी तक आप उत्तराखंड की महालक्ष्मी किट योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते है। अगर हम उत्तराखंड की महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्रालय की बात करे तो उत्तराखंड की महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्रालय के अनुसार, यह योजना आंगनबाड़ी केंद्रों से संचालित की जाएगी। प्रत्येक आंगनबाड़ी केंद्र में इसका निशुल्क फार्म होगा। बस लाभार्थी को आंगनबाड़ी में जाकर फार्म भरना होगा, उसके एक माह बाद मुख्यमंत्री महालक्ष्मी कवच योजना के तहत, माँ व बेटी को महालक्ष्मी किट मिल जाएगी। आवेदन होने पर इसे वेबपोर्टल पर अपडेट किया जाएगा।

उत्तराखंड सरकारी योजना सरकारी योजना Listप्रधानमंत्री सरकारी योजना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here