महाराष्ट्र शिव भोजन योजना 2021 | Maharashtra Shiv Bhojan Yojana 2021 | पूरी जानकारी

1
749
Maharashtra Shiv Bhojan Yojana 2021
महाराष्ट्र शिव भोजन योजना 2021 | Maharashtra Shiv Bhojan Yojana 2021

महाराष्ट्र शिव भोजन योजना 2021 (Maharashtra Shiv Bhojan Yojana 2021)

कोरोना के इस काल के दौरान भारत में सभी चीजें अस्त व्यस्त हो गई जिसे संभालने की कोशिश राज्य सरकार और केंद्र सरकार दोनों ही मिलकर कर रहे हैं। ऐसे में महाराष्ट्र सरकार की एक और पहल सामने आई जिसमें लोगों को कम से कम दाम पर भोजन उपलब्ध कराने की योजना प्रारंभ की गई और इस योजना को नाम दिया गया शिव भोजन योजना। इस योजना के तहत गरीबों को मात्र ₹10 में खाने की थाली उपलब्ध कराई गई। तो आइए महाराष्ट्र सरकार द्वारा उठाए गए इस सराहनीय कदम से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण बातें जान लेते हैं।

क्या है शिव भोजन योजना 2021? (What is Shiv Bhojan Yojana 2021?)

शिवसेना की अगुवाई में प्रारंभ की गई शिव भोजन योजना का लांच जनवरी में ही कर दिया गया था। जिसके अंतर्गत निर्धारित समय पर सभी जिलों में फलित अथवा लंच प्लेट निर्धारित किए गए केंद्र और कैंटीन में लोगों के लिए उपलब्ध कराए गए। इस थाली में दो चपाती या एक सब्जी चावल और दाल शामिल किए गए। यह थाली निश्चित स्थानों पर दोपहर 12:00 से लेकर 2:00 बजे के बीच लोगों के लिए उपलब्ध रहती है। आरंभ में 50 जिलों को चुना गया जहां पर इस थाली के वितरण का कार्य किया जाता था जहां पर पूरा खाना मात्र ₹10 में गरीबों को प्राप्त होता था।

महाराष्ट्र सरकार ने इस योजना के लिए पहले 3 महीने के खर्च के लिए 6.48 करोड़ रुपए की राशि की घोषणा की। सबसे पहले इस योजना की शुरुआत मुंबई में जिले के प्रभारी मंत्री असलम शेख ने नगर निकाय के नैयर अस्पताल की कैंटीन से की। इसी प्रकार शिव भोजन केंद्र का एक और हिसाब बांद्रा के जिलाधिकारी कार्यालय में पर्यटन मंत्री और मुंबई उपनगर के जिला प्रभारी मंत्री ने प्रारंभ किया। कुछ समय पश्चात पुणे और नासिक के भी प्रभारी मंत्रियों अजीत और पवार और छगन भुजबल ने भी अपने जिलों में शिव भोजन योजना का प्रारंभ कर दिया।

कोरोनावायरस के काल के दौरान लगभग 3 महीने तक उसी थाली को ₹5 में भी लोगों को प्रदान की गई। हालांकि यदि उस थाली की वास्तविक कीमत देखी जाए तो शहरी इलाकों के अनुसार उस थाली की कीमत ₹50 थी और ग्रामीण इलाकों के अनुसार उस थाली की वास्तविक कीमत ₹35 थी इससे भी ठाकरे सरकार ने उस थाली को मुसीबत के दौरान ₹5 में गरीब लोगों तक पहुंचाने का काम किया।

फिलहाल यह योजना महाराष्ट्र राज्य के 125 सेंटरों पर अब भी मौजूद है जहां से लोगों को लगातार उसी कीमत पर भोजन की थाली उपलब्ध कराई जा रही है ताकि वह इस महामारी से लड़ सकें और भूख से परेशान ना हो।

महाराष्ट्र सरकार उद्धव ठाकरे का यह कदम बेहद सराहनीय है जिसने कोरोना का के इस दौर में लोगों को भूखा बढ़ने से बचा लिया। जहां एक तरफ लोग अपना काम धंधा छूटने की वजह से परेशान थे वहीं दूसरी तरफ भूख ने उन्हें बेहाल होने से तो बचा ही लिया।

1 COMMENT

  1. इस योजना का लाभ किसी को नहीं मिला है कम से कम खाते में 5000 महीना तो डालो
    आज की इस कोरोना यू के दौर में सब युवक घर बैठे हुए हैं तो घर का गुजारा कैसे होगा समझ लो ठाकरे साहब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here