हिमाचल प्रदेश स्वस्थ बचपन योजना 2021 | Himachal Pradesh Swasthya Bima Yojana 2021 | पंजीकरण प्रकिया

0
533
Himachal Pradesh Swasthya Bima Yojana 2021
Himachal Pradesh Swasthya Bima Yojana 2021

हिमाचल प्रदेश स्वस्थ बचपन योजना 2021 (Himachal Pradesh Swasthya Bima Yojana 2021)

हिमाचल प्रदेश भारत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है भारत में केंद्र सरकार द्वारा जो भी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाती हैं उन सुविधाओं का लाभ  देश की हर राज्यों की तरह हिमाचल प्रदेश के  गरीब नागरिकों को भी भरपूर मिलता है। किसी भी देश के बच्चे देश का आने वाला भविष्य है इसलिए बच्चों का स्वस्थ होना उतना ही आवश्यक है जितना कि “मछली के लिए जल”  स्वस्थ बचपन का रास्ता सभी के लिए उतना आसान नहीं जितना की यह बोलने में आसान लगता है। क्योंकि  एक धनी व्यक्ति तो अपने बच्चों को वह सभी सुविधाएं दे सकता है जो वह देना चाहता है, फिर चाहे वह एक स्कूली शिक्षा हो या खानपान की व्यवस्था  परंतु गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यतीत करने वाले लोगों का अपने बच्चों के लिए  स्वास्थ्य सुविधा देना मुश्किल हो जाता है। क्योंकि वे अपने बच्चों को पोषक तत्वों से भरपूर आहार उपलब्ध नहीं करवा सकते,  जो कि हर बच्चे की बचपन में आधारभूत आवश्यकता है। पोषक तत्वों के बिना बच्चे का बचपन पिछड़ जाता है, जिसके कारण वह शारीरिक उन्नति नहीं कर  सकता। इसके लिए हमारी केंद्र सरकार ने गरीब बच्चों के बचपन को हंसता खेलता बनाने के लिए भरपूर प्रयास किए हैं। सरकार द्वारा बच्चों के लिए किया गया यह प्रयास आर्थिक रूप से पिछड़े बच्चों के लिए “संजीवनी “बूटी से कम नहीं है। परंतु यह सुविधा भारत के कोने कोने में रह रहे बच्चों तक पहुंचाने का काम किसी एक व्यक्ति से संभव नहीं हो सकता है। इसके लिए हमारी केंद्र सरकार राज्य सरकार ने अलग-अलग टीमें बनाई हैं। जिसके लिए सरकारी स्कूल तथा आंगनवाड़ी  केंद्र सरकार के सहायक सिद्ध हुए हैं। इस प्रकार बच्चों के स्वस्थ बचपन की सुविधा को हिमाचल प्रदेश में भी उपलब्ध करवाया गया है। इस सुविधा को राष्ट्रीय बाल  सुविधा का नाम भी दिया गया है , बाल स्वस्थ योजना का लाभ सभी बच्चे प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित आंगनबाड़ी सरकारी जांच केंद्रों से जुड़े कर्मचारी सरकारी स्कूलों ने अपनी अहम भूमिका को निभाया है। उन्होंने घर-घर जाकर बच्चों के तथा के माता-पिता को स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी दी है। स्वास्थ्य संबंधी ज्ञान को अधिकतर माता-पिता समझ कर अपना सफल जीवन बिता रहे हैं।

हिमाचल प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में भी केंद्र सरकार ने आंगनबाड़ी तथा स्वास्थ्य केंद्रों के द्वारा स्वस्थ बचपन के लाभ को समझाने का प्रयास किया है, ताकि सभी बच्चे अपने बचपन को हंसते खेलते समान रूप से बिता सकें।

आइए जानते हैं कि किस प्रकार केंद्र सरकार ने बच्चों को सुविधाएं प्रदान की हैं। (Himachal Pradesh Swasthya Bima Yojana 2021: Objectives and Facilities)

गर्भवती महिला के लिए सुविधा (Facility for Pregnant Woman):- केंद्र ने सर्वप्रथम गर्भवती महिला के स्वास्थ्य को प्राथमिकता दी है क्योंकि यदि मां स्वस्थ होगी तो बच्चा भी स्वस्थ ही जन्म लेगा इसके लिए महिला के गर्भवती होने पर शिशु के जन्म तक महिला को ₹6000 की राशि सरकार प्रदान करती हैं। यह सुविधा 2018 में पूरे भारत में लागू हो गई थी, जिससे गर्भवती महिला को गर्भ के समय तथा  प्रसूति के बाद कुछ पोषक आहार लेने में सहायता मिलती है। सरकार ने गर्भवती महिला का मुफ्त टीकाकरण, आयरन, कैल्शियम की गोलियां तथा गर्भ के समय महिला की जांच की सुविधा सरकार द्वारा दी जाती है।

टीकाकरण की सुविधा (Vaccination Facility):- बच्चों के स्वस्थ जीवन के लिए तथा उन्हें बीमारियों से बचाने के लिए समय समय पर टीकाकरण अवश्य करवाना चाहिए क्योंकि यह टीके बच्चों के शरीर में उत्पन्न हो रहे रोगों से लड़ने की क्षमता देते हैं। टीकाकरण से बच्चों में होने वाली बीमारी जैसे पीलिया, खसरा ,डिप्थीरिया जैसी बीमारियों से सुरक्षा मिलती है। यह सभी सुविधाएं आंगनबाड़ी तथा सरकारी अस्पतालों में मुफ्त दी जाती है। सरकार द्वारा लागू की गई इस स्वस्थ योजना का सभी मासूम बच्चों को नया जीवन मिला है।

सरकार द्वारा प्रदान की गई अन्य जांच करने की सुविधा:-  हिमाचल प्रदेश के जो भी बच्चे गरीबी रेखा से नीचे अपना जीवन बिता रहे है। उनके लिए केंद्र सरकार ने बीमार होने पर सुविधाजनक इलाज जैसे ऑपरेशन का खर्च, अपंग बच्चों के  लिए व्हीलचेयर, पोलियो से ग्रसित लोगों के लिए बैसाखी आदि की  सुविधा प्रदान की जाती है। इस सुविधा में  62,70,108 बच्चों की मुफ्त जांच की गई है, 10,000 से अधिक बच्चों को ऑपरेशन की सुविधा दी गई है जोकि हृदय रोग कटे-फटे हो होठ  ,तालू  कान आदि रोगों से ग्रसित थे। बच्चों के लिए सरकार ने 38 प्रकार की जांच की सुविधा दी है , जिसमें बच्चों के सरकारी स्कूल ,आंगनबाड़ी ,मदरसे  मैं जन्म से  लेकर 18 वर्ष तक के बच्चों को  स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी तथा जांच की पूरी सुविधा दी जाती है।

स्वास्थ्य तथा पोषण के बारे में दी गई सुविधा (Health and Nutrition Facility):-  पोषक तत्वों से भरपूर भोजन एक स्वस्थ शरीर का निर्माण करता है। पोषक तत्वों की कमी के कारण कोई भी बच्चा शारीरिक ऊर्जा मैं वृद्धि प्राप्त नहीं कर सकता वैसे तो पोषक तत्वों की कमी व अधिकता दोनों ही बच्चों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालते हैं। पोषक तत्वों की कमी से बच्चे क्वासिय़रकर, दुर्बलता, नेत्र रोग जैसे रोगों से ग्रसित हो जाते हैं। वहीं दूसरी तरफ पोषक तत्व की अधिकता से बच्चे कुपोषण, मधुमेह जैसे रोगों से ग्रसित हो जाते हैं। इसलिए पोषक तत्व की मात्रा एक बच्चे के लिए आयु के अनुसार कितनी होनी चाहिए यह जानना जरूरी होता है।

जाने हिमाचल प्रदेश स्वस्थ बचपन योजना 2021 के लिए कैसे करें ऑफलाइन आवेदन (Himachal Pradesh Swasthya Bima Yojana 2021: Offline Registration) 

  1. अगर आप हिमाचल प्रदेश स्वस्थ बचपन योजना का लाभ उठाना चाहते है तो इसके लिए आपको ऑफलाइन आवेदन करना पड़ेगा।
  2. हिमाचल प्रदेश स्वस्थ बचपन योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको अपने नजदीकी अस्पताल या आंगनबाड़ी जाना पड़ेगा
  3. अस्पताल या आंगनबाड़ी से आपको इस योजना का फॉर्म मिलेगा। जिसे आपको ध्यानपूर्वक पढ़कर भरना पड़ेगा। और अपने नजदीकी केंद्र में जमा करना पड़ेगा।
  4. उसके बाद 5 से 7 दिन में कार्ड के द्वारा आपका पंजीकरण हो जाता है। उसके बाद आप स्वस्थ बचपन योजना का लाभ उठा पाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here