हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2021 | Haryana Meri Fasal Mera Byora in Hindi | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

0
740
Haryana Meri Fasal Mera Byora 2021
Haryana Meri Fasal Mera Byora 2021

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2021 (Haryana Meri Fasal Mera Byora 2021)

हरियाणा सरकार ने अपने राज्य के किसानों की फसल और खेत का ब्यौरा लेने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा नामक एक योजना का आयोजन किया। इस योजना की शुरुआत भी करोना के दौरान ही करी गई क्योंकि, करोना संकट के कारण किसान अपनी फसल को सही मूल्य में नहीं बेच पा रहे हैं। उनकी इसी समस्या के समाधान के लिए सरकार ने इस योजना की शुरुआत की। इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार किसानों की फसल जैसे गेहूं और सरसों खुद खरीदेगी, इसका मतलब यह है कि किसान को अब किसी थर्ड पार्टी से डील नहीं करना होगा।

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2021 का उद्देश्य (Haryana Meri Fasal Mera Byora 2021: Objectives)

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की फसलों का पूर्ण विवरण इकट्ठा करके उनको उनकी फसल के हिसाब से वाजिब कीमत अदा करना है। किसानों को उनकी फसल पर आने वाले हर तरीके के खर्चे जैसे खाद्य, बीज, ऋण, कृषि उपकरणों  आदि का पूरा विवरण लेकर उनको उसी अनुसार अच्छा दाम प्रदान करना यही इस योजना का मकसद है। इस योजना के तहत किसानों को सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल जी ने इस योजना की घोषणा की थी। इस योजना के तहत किसानों की फसल एवं उनके खेतों का सारा ब्यौरा ऑनलाइन पोर्टल पर दर्ज कर दिया जाएगा, जिससे किसान भी डिजिटलाइजेशन के महत्व को जान पाएंगे।

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग ने फसलों का ब्यौरा एवं किसानों के खेतों की पूर्ण जानकारी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर दर्ज करने हेतु इस योजना का आरंभ किया। अब इस योजना के अंतर्गत सारी जानकारी ऑनलाइन मिल जाया करेगी। बोई जाने वाली फसलें एवं उन पर होने वाले खर्चे तक का ब्यौरा भी इसमें शामिल है।

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2021 के लाभ (Haryana Meri Fasal Mera Byora 2021: Benefits)

  • इस योजना के तहत किसान का पंजीकरण, उसकी फसल का पंजीकरण, खेत का ब्यौरा एवं फसल का ब्यौरा शामिल किया गया है। जिससे सारी जानकारी ऑनलाइन ही प्राप्त हो जाया करेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत किसानों के लिए बनाई गई सारी सुविधाओं को उपलब्ध करवाया जाएगा और उनकी समस्या के समाधान इस के अंतर्गत उपलब्ध  करवाए जाएंगे।
  • कृषि एवं खेती-बाड़ी संबंधित सारी जानकारियां किसानों को समय पर उपलब्ध हो जाया करेगी।
  • खाद्य, बीज रेट, कृषि उपकरणों पर जो सब्सिडी सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई गई है। उसकी जानकारी भी इसी योजना केमाध्यम से मिल जाया करेगी।
  • फसल की बिजाई / कटाई का समय, उसकी मंडी संबंधी हर तरीके की जानकारी इस योजना के माध्यम से किसानों तक पहुंचाई जाया करेगी।
  • अगर किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा या विपदा आ जाती है, तो उसके लिए सहायता इसी योजना के अंतर्गत किसानों को उपलब्ध करवाई जाएगी।
  • जो भी किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी, वे सीधे ही उनके खाते में पहुंचा दी जाया करेगी।
  • किसान अपने स्तर पर खुद इंटरनेट के माध्यम से अपनी फसलों का ब्यौरा ऑनलाइन चेक कर सकते हैं और अगर कोई गलती हो जाए तो उसको सही भी कर सकते हैं।
  • इससे किसानों की फसलों की लागत एवं मिलने वाले दाम की प्रक्रिया आसान हो जाएगी।

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2021 आवेदन के लिए जारी किए गए दिशा निर्देश (Haryana Meri Fasal Mera Byora 2021: Registration and Guidelines)

  • इस पोर्टल पर आने वाली सूचनाओं को कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के साथ सांझा किया जाएगा अर्थात जो भी जानकारी किसानयहां पर दर्ज करवाएंगे, वह सारी जानकारी “कृषि एवं किसान कल्याण विभाग” के पास पहुंच जाया करेगी।
  • किसानों द्वारा अपलोड की जाने वाली सारी सूचना केवल अपनी खेती का ब्यौरा ऑनलाइन करने के लिए ही है। इस पर डाली गई जानकारी किसी अन्य कानूनी क्लेम के लिए प्रयोग नहीं की जा सकती।
  • जो भी जानकारी किसानों द्वारा यहां ऑनलाइन की जाएगी, वह सारी जानकारी / जमाबंदी संबंधित डाटा पटवारियों को भी सांझा किया जाएगा।
  • यह योजना केवलहरियाणा के किसानों के लिए ही है। अन्य राज्य के किसान इस योजना का लाभ नहीं ले सकते।
  • किसी और व्यवसाय से जुड़े हरियाणा निवासी भी इस योजना के लाभ से वंचित रहेंगे। केवल किसानों को ही इस योजना के अंतर्गत सारी सूचनाएं प्रदान की जाएगी।
  • जो भी किसान अपनी फसलों का सही ब्यौरा दर्ज करवाएंगे, वही इस योजना के अंतर्गत अपनी फसल सरकारीमंडियों में भेज पाएंगे।
  • इस योजना का लाभ केवल वे लोग ही उठा पाएंगे जिन्होंने इस योजना में पंजीकरण किया होगा।

आवश्यक दस्तावेज (Required Documents)

  • आधार कार्ड
  • जमीन की पूरी डिटेल
  • आवेदन के लिए जमीन की नकल की कॉपी, मुरब्बा नंबर, खसरा नंबर आदि।
  • फसल का नाम, बुवाई / कटाई का समय आदि।
  • बैंक की पासबुक की कॉपी।

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2021 पंजीकरण प्रक्रिया निर्देश (Haryana Meri Fasal Mera Byora 2021: Registration Process)

  • हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरानामक इस योजना के अंतर्गत अगर किसान पंजीकरण करना चाहते हैं, तो उन्हें आधिकारिक वेबसाइट fasal.haryana.gov.in पर जाना होगा।
  • इसके पश्चात पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा।
  • रजिस्ट्रेशन के लिए किसानों को रजिस्ट्रेशन फॉर्म में सारी जानकारी सही तरीके से भरनी होगी।
  • इसके उपरांत रजिस्ट्रेशन संख्या व अन्य जानकारी किसानों को ईमेल या मोबाइल नंबर के जरिए प्रदान की जाएगी, जिसको किसानों को संभाल कर रखना होगा।
  • इस संख्या का इस्तेमाल किसान अपनी रसीद चेक करने के लिए कर सकते हैं।

विभाग से संपर्क (Contact Details)

अगर किसानों को किसी भी तरह की कोई परेशानी आ रही है तो उनके लिए टोल फ्री नंबर एवं ईमेल आईडी भी उपलब्ध करवाई गई है ताकि वहां से अपनी समस्या का निवारण कर सकें।

  • टोल फ्री नंबर: 18001802060  सुबह 9:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक इस नंबर पर फोन करके किसान जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • ईमेल आईडी: helpdesk@gmail.com द्वारा भीम किसान विभाग से संपर्क कर सकते हैं।

कोरोना महामारी के चलते इस बार हरियाणा सरकार ने गेहूं और सरसों की फसल की सरकारी खरीद के लिए 2000 मंडियां स्थापित की हैं। जो भी किसान इस स्कीम के तहत अपनी फसल बेचना चाहते हैं, उन्हें ऑनलाइन पंजीकरण करना आवश्यक है।

हरियाणा सरकार द्वारा किसानों को उनकी फसल का सही दाम दिलवाने की यह कोशिश काफी अच्छी है। किसानों को अपनी फसल के दाम के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा। वह निश्चिंत होकर सरकार द्वारा स्थापित सरकारी मंडियों में ही अपनी फसल भेज पाएंगे। “कृषि एवं किसान कल्याण विभाग” ने फसलों का ब्यौरा ऑनलाइन करके राज्य के किसानों को भी डिजिटलाइजेशन के प्रोग्राम से अवगत करवाया है। यह एक सराहनीय कदम है, राज्य के किसानों को ऑनलाइन ही विभाग से जोड़ने का।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here