भारतीय जन औषधि परियोजना 2021 | उद्देश्य, लाभ, पात्रता ,जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आने वाला खर्च , आवश्यक दस्तावेज, आवेदन

0
343
Bhartiya Jan Aushadhi Pariyojana

साल 2015 में प्रधानमंत्री जन औषधि परियोजना की शुरुआत की गई थी और इसी के बारे में देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा जन औषधि दिवस के मौके पर मार्च 2021 में रविवार के दिन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भी बताया। उन्होंने इस योजना की घोषणा करते वक्त कहां की इस योजना के अंतर्गत लोगों को सस्ती दर पर दवाई उपलब्ध करवाई जाएंगी। इसके बारे में और संक्षिप्त से जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि देश के अलग-अलग हिस्सों में जन औषधि केंद्र खोले जाएंगे और लोगों के लिए सस्ती दवाएं वहां पर उपलब्ध करवाई जाएंगी। 1 मार्च से लेकर 7 मार्च तक पूरे सप्ताह को देश के अंदर जन औषधि सप्ताह के रूप में मनाए जाने की बात भी उन्होंने कही थी। इस सप्ताह का थीम जन औषधिसेवा दिवस, रोजगार  भी था।

भारतीय जन औषधि परियोजना का उद्देश्य | Bhartiya Jan Aushadhi Pariyojana : Objectives

जैसे कि पूरे भारत में महंगाई दर बहुत ज्यादा बढ़ गई है तो ऐसे में इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं का खर्चा भी बहुत ज्यादा बढ़ गया है। इस कारण कई लोग बिना दवा के ही अपनी जान से हाथ तक धो बैठते हैं या फिर बहुत बड़ी बीमारियों से ग्रस्त हो जाते हैं। ऐसे  लोगों की मदद के लिए भारतीय सरकार ने भारतीय जन औषधि परियोजना की शुरुआत की है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य लोगों को एवं मध्यवर्गीय परिवारों को सस्ती दवाएं उपलब्ध करवाकर उनकी सहायता करना है। इस कार्य के लिए केंद्र सरकार निरंतर औषधि केंद्रों का विस्तार करने में सक्षम है। इस योजना के अंतर्गत न केवल लोगों को सस्ती दवाइयां मिलेगी बल्कि लोगों को काम भी मिलेगा क्योंकि केंद्र खोलने के लिए उन्हें सरकार द्वारा सहायता प्रदान की जाएगी।

भारतीय जन औषधि परियोजना के लाभ | Bhartiya Jan Aushadhi Pariyojana : Benefits

  • इस योजना के अंतर्गतदेश के अलग-अलग हिस्सों में जन औषधि केंद्र खोले जाएंगे।
  • इस योजना के तहत गरीब वर्ग या मध्य वर्ग से संबंधित लोगों को दवाइयां कम रेट पर उपलब्ध करवाई जाएंगी।
  • इसके अतिरिक्त जो लोग दवाइयों से संबंधित अपना बिजनेस खोलना चाहते हैं उनको भीस्वरोजगार का मौका दिया जाएगा।
  • लोगों को 90 फ़ीसदी तक सस्ती जेनरिक दवाइयां उपलब्ध करवाई जाएंगी।
  • एक अनुमान अनुसार वित्त वर्ष में 4 मार्च तक केंद्र से दवाइयां खरीदने पर लोगों को लगभग 3600 करोड रुपए की बचत होगी।
  • जन औषधि केंद्र तेजो दवाइयों की बिक्री होगी उस बिक्री पर लगभग 20% तक का कमीशन मिलेगा।
  • इसके अतिरिक्त हर महीने होने वाली बिक्री पर 15% तक का रीसेंट एक भी योजना के अंतर्गत दिया जाएगा।
  • अधिकतम ₹10000 तक का इंसेंटिव हर महीने दिया जाएगा।
  • जो लोग नक्सल प्रभावित क्षेत्रों मेंरहते हैं और वहां रहते हुए जन औषधि केंद्र खोलते हैं तो उनको हर महीने ₹15000 तक का इंसेंटिव दिया जाएगा।
  • जो लोग नॉर्थ ईस्ट राज्यों में रहते हैं और वहां पर अपना जन औषधि केंद्र खोलते हैं उनको भी अधिकतम ₹15000 तक का इंसेंटिव प्रदान किया जाएगा।
  • यदि कोई दिव्यांग व्यक्ति जन औषधि केंद्र खोलता है तो उस व्यक्ति को ₹40000 तक की वित्तीय सहायता प्रधान मंत्री जन औषधि केंद्र शुरू करने के लिए दी जाएगी।
  • इंसेंटिव उन्हें तब तक प्रदान किया जाएगा जब तक उनके पास ढाई लाख रुपए पूरे नहीं हो जाते।
  • जो व्यक्ति जन औषधि केंद्रों के द्वारा 1 महीने में ₹100000 तक की बिक्री कर लेते हैं उनको ₹30000 तक की कमाई होने की संभावना है।
  • केंद्र सरकार जन औषधि केंद्र खोलने के लिए प्रोत्साहन के रूप में ₹500000 तक की राशि भी प्रदान करेगी।
  • कई स्थितियों में प्रोत्साहन राशि ₹700000 तक की भी हो सकती है।
  • जन औषधि केंद्र खोलने के बाद सरकार की तरफ से साडे 600 से ज्यादा दवाइयां उपलब्ध करवाई जाएंगी।

भारतीय जन औषधि परियोजना के तहत औषधि केंद्र खोलने के लिए पात्रता | Bhartiya Jan Aushadhi Pariyojana 2021 : Eligibility

  • भारतीय सरकार ने जन औषधि केंद्र खोलने के लिए तीन तरह की कैटेगरी बनाई है जोकि निम्नलिखित प्रकार है:
1. बेरोजगार फार्मासिस्ट, डॉक्टर, रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर
2. ट्रस्ट, एनजीओ, प्राइवेट हॉस्पिटल, सोसाइटी, सेल्फ हेल्प ग्रुप
3. राज्य सरकारों की तरफ से 9 मिनट की गई एजेंसी

 

  • इन कैटेगरी से संबंधित लोग भारतीय जन औषधि परियोजना के तहत औषधि केंद्र खोलने के लिए अपने आप को नामांकित कर सकते हैं
  • जन औषधि केंद्र खोलने के लिए रिटेल ड्रग सेल्स का लाइसेंस होना अनिवार्य है।
  • फॉर्म भरना होगा, जिसको भरने के बाद ही औषधि केंद्र खोलने की आज्ञा मिलेगी।
  • भारत में रहने वाले लोग ही इस योजना के अंतर्गत औषधि केंद्र खोलने के लिए अपना नाम नामांकित कर सकते हैं।
  • जो व्यक्ति जन औषधि केंद्र खोलना चाहता है, उसके पास लगभग 120 स्क्वायर फीट की जगह होना अनिवार्य है।
  • किराए पर ली हुई जगह जा अपनी खुद की जगह पर जन औषधि केंद्र खोलने के लिए व्यक्ति आवेदन कर सकता है।
  • बैंक की डिटेल जिसमें कम से कम पिछले 3 सालों के ऑडिट को दिखाना अनिवार्य है क्योंकि इसी से ही पता चलेगा कि स्टोर चलाने के लिए आर्थिक रूप से व्यक्ति सक्षम है या नहीं।

जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आने वाला खर्च | Bhartiya Jan Aushadhi Pariyojana 2021

जन औषधि केंद्र खोलने के लिए शुरुआत में ढाई लाख तक का खर्च आ सकता है और जिन व्यक्तियों को सरकार की तरफ से सहमति मिल जाएगी उनका पूरा खर्च सरकार की तरफ से उठाया जाएगा। फर्नीचर के लिए ₹100000 की सहायता सरकार द्वारा की जाएगी। शुरुआत में मुफ्त दवाओं के माध्यम से ₹100000 की सहायता सरकार द्वारा दी जाएगी।  कंप्यूटर इंटरनेट एवं प्रिंटर आदि की प्रतिपूर्ति के लिए 0.50 लाख रुपए भी वित्तीय सहायता के रूप में दिए जाएंगे।

जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज | Bhartiya Jan Aushadhi Pariyojana : Required Documents

जन औषधि केंद्र खोलने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज होने अनिवार्य है तभी कोई व्यक्ति जन औषधि केंद्र खोलने के लिए सरकार की सहमति प्राप्त कर सकता है।

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • बैंक डीटेल्स
  • अगर कोई दिव्यांग व्यक्ति है तो उससे जुड़ा हुआ दस्तावेज
  • हॉस्पिटल एनजीओ से कोई आवेदन करता है तो संस्था का रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र
  • सक्षम प्राधिकारी से उपलब्ध बिक्री लाइसेंस
  • ड्रग्स लाइसेंस
  • फार्मासिस्ट का प्रमाण पत्र
  • पिछले 3 साल की बैंक स्टेटमेंट
  • बैंक से लोन लेने के लिए लिया हुआ सैंक्शन लेटर

जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आवेदन | Bhartiya Jan Aushadhi Pariyojana : Registration

  • जन औषधि केंद्र खोलने के लिए कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है। जो भी व्यक्ति जन औषधि केंद्र खोलना चाहता है उस व्यक्ति को पर जाकर आवेदन पत्र डाउनलोड करना होगा। आवेदन पत्र डाउनलोड करने के बाद आवेदन शुल्क ₹5000 का भुगतान करना पड़ेगा।
  • इसके अतिरिक्त यदि कोई व्यक्ति ऑनलाइन ही रजिस्ट्रेशन करना चाहता है तो उस व्यक्ति को ऑफिशियल वेबसाइटके लिंक http://103.74.244.104:9095/registration.aspx पर जाना होगा। इस लिंक पर जाते हैं, डायरेक्ट फॉर्म ओपन हो जाएगा जिसमें जानकारी भरी जा सकती है और रजिस्ट्रेशन फॉर्म को सबमिट किया जा सकता है।
  • इसके अतिरिक्त भारतीय जन औषधि परियोजना कीऑफिशियल वेबसाइट   पर जाकर भी रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरा जा सकता है।
  • इस साइट पर जाने के बाद रजिस्ट्रेशन पेज खुल जाएगा।
  • इस रजिस्ट्रेशन पेज में सारी गाइडलाइंस पढ़ने के बादअप्लाई ऑनलाइन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद एक नया पेज ओपन हो जाएगा, इस पेज में साइन अप पर क्लिक करना होगा और आईडी तथा पासवर्ड जनरेट करना है।
  • साइन इन करने के बाद एक फॉर्म ओपन हो जाएगा इस फॉर्म में मांगी हुई सारी जानकारी जैसे कि नाम, आधार संख्या एवं अन्य डिटेल भरनी होंगी।
  • सारी डिटेल भरने के बाद कुछ दस्तावेज अपलोड करने होंगे।
  • दस्तावेज अपलोड करने के बाद फॉर्म को सबमिट करना होगा।
  • इसी साइट पर व्यक्ति स्टेटस चेक कर सकता है कि उसके रजिस्ट्रेशन फॉर्म को अप्रूवल मिला है या नहीं।

भारतीय सरकार ने लोगों की मदद के लिए और दवाइयों को सस्ती दरों पर दिलवाने के लिए ही इन औषधि केंद्रों को खोला है और इसका फायदा सभी लोगों को अवश्य उठाना चाहिए। इस योजना के माध्यम से अपना औषधि सेंटर खोलने के लिए भी लोगों को सहायता प्रदान की जा रही है, जिससे लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

सरकारी योजना List 2021प्रधानमंत्री सरकारी योजना 2021

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here